देश, humble ,kind and polite, life, personality development, shayree

“ये अजीब सा शहर !”

shahar
ये अजीब सा शहर

Ye khauf ye dar

ye ajeeb sa shahar !

thamte nahin hain ashq

Jab aajata hai nazar !!

Advertisements

22 विचार ““ये अजीब सा शहर !”&rdquo पर;

    1. जो आपसे दूर है ऐसा हर शहर , क्यूंकि दूर के ढोल सुहाने होते हैं !वैसे यह पिक अफ़ग़ानिस्तान की है !जबकि यह राइटिंग किसी पर भी आसामान्य स्थिति वाले शहर पर लागू हो सकती है !

      Liked by 1 व्यक्ति

      1. कोई भी शहर आपसे दूर है, क्योंकि दूर के ढोल सुहावने हैं! वैसे, यह चुनाव अफगानिस्तान का है!
          जबकि यह पत्र किसी भी शहर में असामान्य स्थिति में किसी पर भी लागू हो सकता है! हाँ यह एकदम सही है,
        हंसी खुशी खुशी प्यार, दुर्घटना, बीमार, wiederesund, शादी, भोजन, भूख, प्यास, और भी बहुत कुछ है, वह है = जीवन = सुंदर सप्ताहांत।thank you, you too back, nice weekend

        Liked by 1 व्यक्ति

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.