pixabay
#quote, सोशल ईविल, life, Mental health and personality development, motivation, personality development, shayree, Society, solution of a problem, Uncategorized

"इंतज़ार न कर !"

सदैव मन की सुनें

क़ल्ब तेरा – खुद ही क़ासिद !
किसी रहबर का – इंतजार न कर !!

तोड़ के – रिवायत !
उड़ पंखों का – इंतजार न कर !!

कर जूनूं – खुद में पैदा ,कोई शिद्दत !
कोई आए, दे रफ्तार – इंतजार ना कर !!

राब्ता, सबसे रख – बढ आगे, भूल के रंजिश !
तू ही, कर पहल – और का, इंतजार ना कर !!

कर तख्य्यल ऐसा – कि तसव्वुर – सच हो !
किसी मुआज्जजा का – इंतज़ार न कर !!

अर्थ

क़ल्ब ———— दिल/मन
क़ासिद ——— संदेश वाहक/संदेश लेने वाला
रहबर ———- मार्ग दर्शक/लीडर
रिवायत ——- परंपरा
जुनूं ———– महत्वाकांक्षा /अभिलाषा
शिद्दत ——– तीव्रता
राब्ता ——— मज़बूत लगाव
रंजिश ——— दुश्मनी
तखय्यल ——- कल्पना शक्ति
तसव्वुर ——— कल्पना
मुअज्जजा —— चमत्कार

सोशल ईविल, kavita, life, personality development, shayree, Society, Uncategorized

"वक़्त की तलाश में …..!"

कयामत ,की रात -थी वो !
जब ,उसका – ज़वाल देखा !!
हर एक – शख्स के !!!
लब पे – सवाल देखा !!!!

मुकद्दर , किसी का – यूं !
बिगड़े न – इस तरह !!
अपनों की – थी महफिल !!!
गैरों सा – हाल देखा !!!!

वाबस्ता – जो , नहीं थे !
थे वो भी – वक्त की तलाश में !!
रखते थे – वह ,भी क्या !!!
दिल में – ख्याल ,देखा !!!!

दिल शिकनी – करके भी था !
खुद पर – जिन्हें गुरूर !!
इनायत – का उनकी !!!
क्या-क्या गुमान देखा !!!!

दिल से – निभाए जो !
बस ,शिद्दत – उसी में है !!
नाम के – रिश्तों का !!!
तो बस – कतले आम देखा !!!!

दुनिया है ये – इससे कोई !
तवकको – न कीजिए !!
गुलशन -उजाड़ कर भी !!!!
न ,इसको – मलाल देखा iv